Sunday, August 6, 2017

Latest Science Inventions: क्या आपको पता हे? - इन्सान कभी डायनोसोर के साथ रहा था

Latest Science Inventions: क्या आपको पता हे? - इन्सान कभी डायनोसोर के साथ रहा था

नमस्कार मित्रो फिर से एकबार स्वागत हे आपका मिथक टीवी के नए Article में....
क्या आप को कभी प्रश्न पड़ा हे क्या की क्या कभी इन्सान और डायनासोर एकसाथ रहे थे...?क्या समय के किसी एक बिंदु पर पृथ्वी पर ये दोनों महान प्रजातीया एकसाथ थी.....?



वस्त्वित्कता में हमने कभी भी chronology(समयशास्त्र) में इन्हें एकसाथ नहीं रखा, क्योकि माना जाता हे की ये दोनों काफी अलग समय से belong करते हे.
डायनासोर काफी प्राचीन Reptiles हे जो Mesoizoic काल के Triassic period के मध्य से अंत तक पृथ्वी पर रहे थे, ठीक से बात करे तो २ करोड़ १३ लाख वर्षो पहले डायनासोर पृथ्वी पर अपना अधिपत्य जमाये बैठे थे. वो Reptiles class के मेंबर थे जिसमे आजके crocodile, lizard जैसे प्राणी शामिल हे. dayno एक ग्रीक शब्द हे जिसका अर्थ turbo यानि बहोत शक्तिशाली और Sores यानि reptile या छिपकली हे.


इस बहोत शक्तिशाली छिपकली यानि डायनासोर ने पहली बार दुनिया का ध्यान १८२० के दशक बटोरा जब इंग्लिश वैज्ञानिको को अपने देश में एक अनजान reptile की बहोत बड़ी हड्डिया मिली. और तबसे आजतक वो दुनिया के सभी बच्चो-बुढो का आकर्षण का केंद्र रहे हे, उनका विशालकाय आकार और अद्वितीयता ने बहोत सारी Documentries, movies, और कथाओ को प्रोत्साहित किया हे.

और अगर हम इंसानों की बात करे, तो वैज्ञानिको के मुताबिक हम इस दुनिया में काफी नए हे, हमारे पूर्वज ६० लाख वर्षो पहले पृथ्वी पर आये और आधुनिक इन्सान २ लाख वर्ष पहले इस पृथ्वी पर रहने लगा था.
इसका अर्थ ये हे की .... इन्सान और डायनासोर के एकसाथ रहने का दूरदूर तक कोई अंदेशा नहीं हे. और ऐसा बहोत लोग मानते भी हे....
पर डायनासोर के जीवाश्म, प्राचीन इंसान के बनाये चित्र और प्राचीन मुर्तिया... कुछ अलग ही कहानी कहती हे.
और इन सब की माने तो इन्सान डायनासोरके साथ किसी न किसी समय न सिर्फ रहे थे बल्कि उनके साथ इंटरेक्शन भी हुवा था.
हमें पता हे ये बहोतही विवादस्पद विषय हे.... पर ये उतनाही interesting भी हे.
कुछ सबुत हे जो ये साबित करते हे की .... हा डायनासोर और इन्सान एकसाथ रहे थे, इन्हें देखकर आप खुद निर्णय ले सकते हे

इनमे से एक सबुत.... में, २०१२ में मिला, जब डायनासोर की प्रजाति Triseretop का सिंग अमेरिका की Dawson County, Montana में मिला,और बाद में जिसकी आयु सिर्फ ३३५०० वर्ष निकली हे. Triseretop डायनासोर की वो प्रजाति थी जिसके चहरे पर ३ सिंग होते थे, और ऐसा माना जाता हे की वो ६ करोड़ ८० साल पहले cretecious काल में पृथ्वी पर जन्मा था और उसके २० लाख साल बाद यानि आजसे ६ करोड़ ६० लाख वर्ष पहले वो पृथ्वी से नामशेष हुवा था.
     
Triseretop डायनासोर का सिंग GlenDive Dinasaur and fossile musuem में रखा हुवा हे, इस museum ने सिंग के sample research हेतु एक paleo-chronology ग्रुप को भेजे, paleo-chronology ग्रुप के प्रमुख प्रो.मिलर के कहने पर ये samples carbon dating के लिए University of Georgia भेजे



जिन्हें कार्बन डेटिंग क्या हे ... ये पता नहीं उन्हें हम बतादे की, किसी भी चीज जो कभी जीवित थी यानि biological origin की थी ....उसकी आयु निकालने की ये वैज्ञानिक पद्धति हे, पर इस पद्धति से हम सिर्फ ५४००० सालो तक की ही आयु निकल सकते हे. और शायद इसी वजह से पहले कभी कार्बन डेटिंग को डायनासोर की हड्डियों को परखने के लिए... उपयोग नहीं किया गया था
क्योकि वैज्ञानिको को लगता था की ६ करोड़ साल पहले extinct हुए प्राणियों की हड्डियों की आयु के लिए ये पद्धति बेकार हे.
और इसी गलतफहमी के कारन पथ्थरो की आयु निकालने वाली radiometric dating of volcanic layers नाम की पद्धति का उपयोग वैज्ञानिक करते आ रहे थे, ये पद्धति रिजल्ट से ज्यादा assumptions पर ज्यादा depend हे. सालो से वैज्ञानिक डायनासोर की हड्डियों में कार्बन की मात्रा होने को नकार रहे थे.

जब university of georgia में Triseretop डायनासोर का sample भेजा गया तो इसे २ fractions में divide किया गया, एक fractions से ३३,५७० +/- १२० वर्ष तो दुसरे के अनुसार ४१०१० +/- २२० वर्ष निकली, उन्होंने sample को दो भागो में बाटा था क्युकी वे errors को कम कर सके, और इससे पता चला की ३३५०० से ४१०१० वर्षो के बिच में कही तो Triseretop डायनासोर जिन्दा था.
२०१३ में बनाये गए एक मॉडल ने ये साबित किया हे की डायनासोर की हड्डियों में कार्बन हे, और इनके अनुसार डायनोसोर २०,००० से ३९,००० सालो पहले पृथ्वी पर चल रहे थे.
एक और अलग शोध जो ठीक इस शोध की पुष्टि देता हे के अनुसार
Paleontologist  mary schweitzer के अनुसंधान से soft tissue जो montana २००५ में मिले T-रेक्स की खोयी हुयी हड्डी का हे, इस tissu को वैज्ञानिको ने जब re-hydrate किया तो उन्होंने blood-vessles और connective tissue को बेहतरीन हालत में पाया, ये भी बहोत चौकाने वाला था क्यों-की, वैज्ञानिक सोचते थे की लाखो साल पहले ही डायनोसोर के tissues का प्रोटीन degrade हो गया होगा, ये भी यही बताता हे की डायनोसोर हजारो साल पहले extinct हुए हे न की करोडो सालो पहले

montanoceretop जो ७ करोड़ साल पहले extinct हुवा ऐसा माना जाता हे, ठीक उसी के तरह दिखने वाली मुर्तिया पूर्वी-चीन की एक प्राचीन सभ्यता ने बनाई थी.
मार्को-पोलो भी अपने रिकोर्ड में साल ११०० में लिखता हे की, उसने एक ५० फुट बड़ी छिपकली देखि हे जिसका मु इतना बड़ा था की वो एक आदमी निगल सके, और उसकी पुंछ भी बहोत बड़ी थी
इन्सान- डायनोसोर के एक काल में रहने के और भी कई उदहारण मिलते हे, बहोत जगह पर प्राचीन सभ्यताओ ने इनके चित्र बनाये हे, मुर्तिया बनायीं हुयी हे.
शायद डायनोसोर उतनी जल्दी दुनिया से नहीं गए जैसा की हम पहले सोचते थे, हम आपसे प्रश्न पूछते हे आप क्या सोचते हे .... क्या कभी समय के किसी बिंदु पर इन्सान और डायनोसोर एकसाथ रहे होंगे.


Disqus Comments